RSS
देश रांची

लॉकडाउन के दौरान गरीब और दिहाड़ी मजदूरों की सेवा कर रहे आरएसएस स्‍वयंसेवक

रांची 28 मार्च 2020 City On Click:

कोरोना वायरस जैसी महामारी से निपटने के लिए लॉकडाउन के बाद देश भर में जगह-जगह घिरे व परेशान लोगों, दिहाड़ी मजदूरों, बुजूर्गों व विद्यार्थियों की मदद के लिए स्वयंसेवक अपने-अपने घरों से निकलने लगे हैं। स्वयंसेवक समाज के सहयोग से कही भोजन के पैकेट वितरित कर रहे हैं तो कहीं कहीं मास्क व सैनिटाइजर घर-घर जाकर बांट रहे हैं। वे लोगों को जागरूक भी कर रहे हैं। संघ के आह्वान के बाद अनुषांगिक संगठन भी मदद को आगे आ रहे हैं।

पिछले दिनों संघ प्रमुख डॉ. मोहन भागवत ने देश में आई इस आपदा की घड़ी में स्वयंसेवकों से तैयार रहने को कहा था। वहीं आरएसएस के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल ने आह्वान किया है कि जो स्वयंसेवक जहां रहते हैं उस मोहल्ले में रहने वाले मजदूर व विद्यार्थियों की खाद्य सामग्री की चिंता करें। वैसे बुजूर्ग जिनके बच्चे बाहर रहते हैं उनके भोजन, दवा एवं अन्य आवश्यकताओं का ध्यान रखें। दिल्ली सहित जहां-जहां उत्तर पूर्व के विद्यार्थी एवं काम करने वाले लोग रहते हैं उनकी भी चिंता करें।

पुलिस और प्रशासन के साथ संपर्क बनाकर रखते हुए अफवाहों को नहीं फैलने दें। शुक्रवार को दैनिक जागरण से बातचीत में आरएसएस के सह सरकार्यवाह मनमोहन वैद्य ने कहा कि देश में जब-जब जरूरत पड़ी है संघ के स्वयंसेवक मदद के लिए सबसे आगे रहे हैं। चाहे पाकिस्तान या चीन से युद्ध के समय मदद की बात हो या बिहार, गुजरात व उत्तराखंड में आए भूकंप एवं केरल में आई बाढ़ की विभिषिका हो। हमेशा स्वयंसेवकों ने बढ़-चढ़कर जनसेवा की है।

लोगों के लिए भोजन, मास्क व सैनिटाइजर का प्रबंध कर रहे संगठन

रांची में सेवा भारती ने लॉकडाउन की स्थिति तक प्रत्येक दिन 500 लोगों को भोजन कराने का निर्णय लिया है तो एकल अभियान ने देश के एक लाख गांवों में मुफ्त में मास्क बंटवाने का निर्णय लिया है। साथ ही अपने 32 गो सेवा केंद्र पर सैनिटाइजर बनवाने एवं मुफ्त में बंटवाने का काम शुरू कर दिया है।

विकास भारती के सैकड़ों कार्यकर्ता गरीबों को भोजन उपलब्ध कराने लगे हैं। जरूरत पडऩे पर मरीजों को अस्पताल भी पहुंचा रहे हैं। विश्व ङ्क्षहदू परिषद के कार्याध्यक्ष ने अपने लोगों से कहा है कि यह देखें की देश में कोई भी गरीब भूखा नहीं रहे। भारतीय मजदूर संघ ने अपने लोगों से एक दिन का वेतन देने को कहा है को अभाविप ने जहां-तहां फंसे लोगों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है।

पूरे देश में जुटे हैं स्वयंसेवक, जरूरतमंदों के लिए खुद बना रहे भोजन

जम्मू में असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले, झुग्गी झोपडिय़ों में रहने वाले लोगों के बीच स्वयंसेवकों ने राहत सामग्री का वितरण शुरू कर दिया है। मध्य प्रदेश के जबलपुर में जिनको भोजन नहीं मिल रहा है उन्हें उपलब्ध कराया जा रहा है। वहीं ओडिशा एवं कर्नाटक में कई जगहों पर मास्क एवं दवाइयों का वितरण किया जा रहा है।

केरल में संघ के स्वयंसेवक व सेवा भारती के कार्यकर्ता सोसायटी तथा अस्पतालों में स्वच्छता अभियान चला रहे हैं। उत्तर प्रदेश और बिहार में भी स्वयंसेवकों ने जरूरतमंदों तक भोजन पहुंचाने का काम शुरू कर दिया है। राजस्थान के चितौड़ में जिन लोगों को खाना हर रोज की कमाई से ही मिलता है, ऐसे लोगों के लिए स्वयंसेवक खुद भोजन तैयार कर रहे हैं।