up Farukabad
अपराध उत्तर प्रदेश

फर्रुखाबाद में बंधक बनाए गए 23 बच्चों को 8 घंटे बाद पुलिस ने छुड़ाया

फर्रुखाबाद (उत्तर प्रदेश) में जमानत पर छूटे हत्या के आरोपी ने गुरुवार को 23 बच्चों को 8 घंटे तक घर में बंधक बनाए रखा। दिन में पुलिस और एटीएस बच्चों को छुड़ाने में नाकाम रही। इसके बाद देर रात एनएसजी कमांडो का एक दस्ता फर्रुखाबाद रवाना हुआ। लेकिन रात करीब 1 बजे पुलिस ने ग्रामीणों के साथ मिलकर ऑपरेशन चलाया और आरोपी सुभाष बाथम के घर का दरवाजा तोड़कर बच्चों को सुरक्षित निकाला। इसी दौरान मुठभेड़में बाथम मारा गया। पुलिस ने उसकी पत्नी को भीड़ से बचाकर निकाला। आरोपी ने बेटी की बर्थडे पार्टी के बहाने बच्चाें काे बुलाकर अंडरग्राउंड कमरे में बंद कर दिया था।

डीजीपी ओपी सिंह नेदेर रात 1:10 बजे बताया कि पुलिस ने पिछलेदरवाजे से घर में घुसने की कोशिश की। इस पर बाथम ने फायरिंग की और जवाबी कार्रवाई मेंमारा गया। इस दौरानउसकी पत्नी भी घायल हो गई।मुख्यमंत्रीयोगी आदित्यनाथ ने पुलिस टीम को 10 लाख रु. इनाम देने की घोषणा की है।

बदमाश ने 6 बार फायरिंग की, हथगोला भी फेंका
मोहम्मदाबाद के करथिया गांव में जमानत पर बाहर आए बाथमने बेटी केजन्मदिन के बहानेबच्चों को घर बुलाया। फिर सभी को एक भूमिगत कमरे में बंद कर दिया। इसके बाद वह नशे में छत पर चढ़कर चीखने लगा कि अब पुलिस उसे पकड़ने आई,तो नतीजा भुगतना पड़ेगा। यहां गांव के लोग जमा हो गए।बच्चों को छुड़ाने पहुंची पुलिस टीम पर उसने गोलियां चलाईं। 2 पुलिसकर्मी घायल हो गए। पुलिस ने बाथम के दोस्त को उसे मनाने के लिए भेजा, उसे भी गोली लगी है। आरोपी ने 6 बारफायरिंग की और घर के बाहर हथगोला भी फेंका था। इतना ही नहीं उसने 35 किलो बारूद से घर को उड़ाने की धमकी भी दी।

साजिश: साल में दूसरी बार मनाया बेटी का बर्थडे
एक पड़ोसी ने बताया कि सुभाष साल में दूसरी बार बेटी का बर्थडे मना रहा था। वह 8-10 हजार रुपए का सामान लाया था। मोहल्ले में खेल रहे बच्चों को उसने टॉफी का लालच देकर बुलाया। जब एक महिला अपने बच्चे को लेने गई तो बाथम ने लोगों पर फायरिंग शुरू कर दी।

शक: गांव वालों की वजह से ही मर्डर केस में फंसा
बाथम को मौसा की हत्या के मामले में उम्रकैद हुई थी। 10 साल तक वह जेल में रहा। फिर हाईकोर्ट ने जमानत दे दी।करीब चार महीने पहले स्वाट टीम उसे चोरी के मामले में पकड़कर ले गई थी, तभी से वह गांव के लोगों से दुश्मनी रखता था। उसे शक है कि गांव वालों की वजह से ही वह मर्डर केस में फंसा। पुलिस और ग्रामीणों से बदला लेने के लिए उसने बच्चों को बंधक बनाने की योजना बनाई।