देश राजनीति राष्ट्रीय

कांग्रेस में इस्तीफे का दौर जारी, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने छोड़ा महासचिव पद

लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस में इस्तीफों का दौर जारी है. अब कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पार्टी महासचिव पद से इस्तीफा दे दिया है. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर अपने इस्तीफे की जानकारी दी. लोकसभा चुनाव में हार की जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी भी कांग्रेस पद से इस्तीफा दे चुके हैं. न्यूज एजेंसी ANI से बात करते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, मैंने महाचचिव पद से आज इस्तीफा नहीं दिया. मैं 8-10 दिन पहले ही इस पद से इस्तीफा दे चुका हूं.

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इस्तीफे का ऐलान करते हुए ट्वीट किया, जनादेश स्वीकार करते हुए और हार की जिम्मेदारी लेते हुए मैंने राहुल गांधी को कांग्रेस महासचिव पद से अपना इस्तीफा सौंप दिया है. मैं उन्हें (राहुल गांधी) इस जिम्मेदारी को सौंपने के लिए और मुझे पार्टी की सेवा करने का अवसर देने के लिए धन्यवाद देता हूं.

कांग्रेस महासचिव पद से इस्तीफा देने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया से न्यूज एजेंसी ANI से कहा, मैं वो नेता नहीं हूं जो अन्य लोगों को ऑर्डर देता है. मुझे लगता है कि जब कोई जिम्मेदारी होती है, तो जवाबदेही भी होती है. अगर चुनाव में पार्टी का प्रदर्शन अच्छा नहीं है तो इसके लिए मैं भी जिम्मेदार हूं, इसलिए मैंने कांग्रेस महासचिव पद से इस्तीफा देने का फैसला लिया.

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार हुई थी. इन चुनावों में सबसे खास बात थी कि कांग्रेस के दिग्गज नेता भी अपनी सीट हार गए थे. ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी मध्य प्रदेश की गुना सीट से हार का सामना करना पड़ा था. भारतीय जनता पार्टी ने मध्य प्रदेश की कुल 29 सीटों में से 28 सीटें झटककर कांग्रेस को हैरान कर दिया था. गुना सीट से ज्योतिरादित्य सिंधिया पिछले चार बार से जीतते आ रहे थे. इस सीट को कांग्रेस का गढ़ कहा जाता था.