Fraud
रांची

जैक की फर्जी वेबसाइट बना मैट्रिक-इंटर का बोर्ड रिजल्ट जारी किया, जैक ने शुरू की जांच

रांची 26 जून 2020 City On Click:

झारखंड एकेडमिक काउंसिल (जैक) के नाम से नकली वेबसाइट बनाकर फर्जीवाड़ा करने का मामला सामने आया है। जैक का लोगो लगाकर इस साइट पर मैट्रिक-इंटर का फर्जी रिजल्ट भी जारी कर दिया गया है। यही नहीं इस फर्जी वेबसाइट पर फर्जी प्रमाण पत्र भी दिया जा रहा है। इसकी जानकारी मिलते ही जैक ने इसकी जांच शुरू कर दी है।

काउंसिल ने बताया कि इस फर्जी वेबसाइट पर बोर्ड का फर्जी रिजल्ट जारी किया गया है। इसमें परीथार्थियों से उनके डिटेल मांगे जा रहे हैं। जैक सचिव महीप कुमार सिंह ने बताया कि यह साइट गैरकानूनी रूप से बनायी गई है। इसके माध्यम से बिना परीक्षा देने वाले छात्रों को रोल कोड और पासवर्ड देकर प्रमाण पत्र दिया जा रहा है। इसमें किसी बड़े रैकेट के जुड़े होने की आशंका है जो बच्चों को गुमराह कर रहे हैं। जैक ने इसकी जानकारी साइबर सेल के एसपी, साइबर क्राइम और नेशनल साइबर कोआर्डिनेटिंग सेंटर को दे दी है।

कैसे होता है फर्जीवाड़ा : जैक के नाम पर बनाए गए इस फर्जी साइट से फर्जीवाड़ा कर देशभर के संस्थानों को गुमराह किया जा सकता है। काउंसिल के आईटी सेल के हेड कुणाल बताते हैं कि ऐसी वेबसाइट खासकर उनके लिए बनाई जाती है जिन्होंने मैट्रिक व इंटर की परीक्षा दी ही नहीं है। इस साइट में ऐसा लोगों का डाटा अपलोड किया जाता है। हर छात्र को रोल कोड और पासवर्ड दिया जाता है। इसका इस्तेमाल कर वे फर्जी प्रमाण पत्र निकाल सकते हैं। देश के किसी भी संस्थान में नामांकन के वक्त अगर इस रोल कोड व पासवर्ड से जारी सर्टिफिकेट की जांच इस फर्जी वेबसाइट पर की गई तो वह इसे सही बता देगा। अधिकतर मामलों में नामांकन के भीड़ में भी इस तरह की जांच नहीं होती है और मूल प्रमाण पत्र देख  नामांकन ले लिया जाता है। 

जैक की अपनी वेबसाइट पर ही मिलेगी सही जानकारी : जैक ने बताया कि उसकी सही वेबसाइट जैक डॉट झारखंड डॉट जीओवी डॉट इन है। इसी वेबसाइट पर जैक मैट्रिक, इंटर, पीटीटी, मध्यमा, मदरसा, वोकेशनल, टेट, आठवीं, नौंवी, ग्यरहवीं व अन्य एकेडमिक परीक्षाएं और उनके नतीजे घोषित करता है।