HighCourt
रांची

हाई कोर्ट का बड़ा फैसला, अदालत में अब आमने-सामने होगी सुनवाई, 2 हफ्ते में खुल जाएंगे झारखंड के तमाम कोर्ट-कचहरी

रांची 9 जनवरी 2021 City On Click:

झारखंड में 2 हफ्ते में तमाम कोर्ट-कचहरी खुल जाएंगे। राज्‍य की सभी अदालतों में फिजिकल सुनवाई दो सप्ताह के अंदर शुरू होगी। झारखंड हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन और स्टेट बार काउंसिल के प्रतिनिधियों के साथ हुई बैठक में गुरुवार को यह महत्‍वपूर्ण निर्णय हुआ। बैठक वर्चुअल तरीके से की गई। इधर कोर्ट-कचहरी खुलने और अदालत में सशरीर सुनवाई होने की जानकारी के बाद बार एसोसिएशन में खुशी की लहर है। वकील एक दूसरे को बधाई देते दिखे।

झारखंड के अधिवक्ताओं के लिए राहत भरी खबर है। अब राज्य की सभी अदालतों में फिजिकल सुनवाई शुरू होने जा रही है। शुक्रवार को इसको लेकर हाई कोर्ट की कोर कमेटी और स्टेट बार काउंसिल के प्रतिनिधियों के बीच सहमति बन गई है। चीफ जस्टिस डॉ. रवि रंजन की अध्यक्षता में हुई बैठक में इसपर निर्णय हुआ कि दो सप्ताह के अंदर सभी अदालतों में फिजिकल सुनवाई शुरू कर दी जाएगी।

अभी जहां पर कोरोना के मामले कम हैं वहा पर ज्यादा संख्या में अदालतों में फिजिकल सुनवाई होगी। जहां पर कोरोना संक्रमण ज्यादा वहां कम संख्या में अदालतें बैठेंगी। बार काउंसिल के चेयरमैन राजेंद्र कृष्णा ने बताया कि शाम साढ़े पांच बजे हाई कोर्ट की कोर कमेटी के साथ ऑनलाइन बैठक हुई जिसमें फिजिकल कोर्ट शुरू करने पर सहमति बन गई है। दो सप्ताह के अंदर सभी अदालतों में फिजिकल सुनवाई शुरू होने की संभावना है।

दरअसल, करीब नौ माह से सभी अदालतों में ऑनलाइन सुनवाई हो रही है। ऐसे में उसकी साफ-सफाई और सैनिटाइज सहित अन्य प्रक्रिया में दो सप्ताह का समय लग सकता है। इसके बाद अदालतों में सुनवाई शुरू कर दी जाएगी। इस दौरान स्टेट बार काउंसिल के चेयरमैन राजेंद्र कृष्णा, बीसीआइ सदस्य प्रशात कुमार सिंह, परमेश्वर मंडल सहित अन्य सदस्य बैठक में शामिल हुए।

11 जनवरी को होगा ट्रायल

11 जनवरी को एक खंडपीठ फिजिकल सुनवाई करेगी। इस बेंच का गठन परीक्षण के तौर पर किया गया है। इस बेंच में जस्टिस एचसी मिश्र और जस्टिस राजेश कुमार बैठेंगे। यह बेंच इस दिन सप्लीमेंटरी लिस्ट में सूचीबद्ध दस मामलों की सुनवाई करेगी। सप्लीमेंटरी लिस्ट की मामलों की सुनवाई पूरी करने के बाद यह खंडपीठ भी वर्चुअल सुनवाई करेगी।

हाईकोर्ट में आठ कोर्ट रूम तैयार

फिजिकल सुनवाई के लिए झारखंड हाईकोर्ट में कोर्ट रूम तैयार किए गए हैं। हर न्यायालय कक्ष को शीशे के तीन लेयर से घेरा गया है। जजों के टेबल के सामने, कोर्ट मास्टर और पेशकार के सामने शीशा का घेरा लगाया गया है। दोनों पक्षों को वकील जहां से बहस करते हैं वहां भी शीशे का केबिन बनाया गया है। इसी प्रकार सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए कोर्ट रूम में छह से आठ वकीलों के ही बैठने की व्यवस्था कर पूरी कर ली गयी है।

6 Replies to “हाई कोर्ट का बड़ा फैसला, अदालत में अब आमने-सामने होगी सुनवाई, 2 हफ्ते में खुल जाएंगे झारखंड के तमाम कोर्ट-कचहरी

  1. Как упоминалось, для работы с Гидрой следует применять браузер Тор. Но помимо этого, надо зайти на нужный сайт, не угодив к мошенникам, которых немало. Поэтому, бонусом от нашей компании, у вас окажется hydraruzxpnew4af.onion.

  2. hydraruzxpnew4af.onion это торговая площадка различных товаров определенной направленности. Портал действует с 2015 г. и сегодня энергично раскручивается. Основная валюта – криптовалюта Bitcoin. Специально для приобретения данной валюты на проекте работают штатные обменники валют. Купить или обменять Bitcoin сможете с помощью раздела “Баланс” в кабинете пользователя. Гидра предлагает два метода приобретения изделий: главный – это клад (прикоп, магнит, тайник, закладки); следующий – транспортировка по всей России (транспортные фирмы, курьерские службы, почта). Огромное количество опробованных он-лайн магазинов результативно выполняют свои реализации на протяжении нескольких лет. На вебсайте существует система отзывов, посредством которой Вы можете удостовериться в добросовестности торговца. Площадка торговли Гидра адаптирована под всякие девайсы. В связи с блокированием ссылки Hydra регулярно ведутся ревизии рабочих зеркал для обхождения блокирования. Прямо за новейшими зеркалами возникают и “фейки” торговой площадки Гидра. Как правило фейк аналогичен главному ресурсу hydra, но войти в кабинет пользователя не выйдет, т.к. это фейк и его цель сбор логинов и паролей. Постоянно проверяйте ссылка на гидру по какой Вы переходите, а надежнее применяйте действующие гиперссылки на гидру выставленные на разделах этого сайта и Ваши данные не попадут в руки мошенников.

Comments are closed.