HemantSoren
CMO_JHARKHAND रांची

खेल अकादमी की प्रगति से मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन असंतुष्ट, एमओयू रद्द करने का दिया आदेश

रांची 15 दिसंबर 2020 City On Click:

झारखंड के मिशन ओलंपिक गोल्ड पर ब्रेक लगने जा रहा है। राज्य सरकार व सीसीएल (सेंट्रल कोलफील्ड लि.) के बीच ओलंपिक के लिए खिलाड़‍ियों को तैयार करने को लेकर 17 जून 2015 में हुए एमओयू को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रद करने का आदेश दिया है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन खेल अकादमी की प्रगति से असंतुष्ट हैं। वे काफी दिनों से एमओयू रद करने पर विचार कर रहे थे।

पिछले दिनों हुई समीक्षा बैठक में सीएम ने खेल सचिव पूजा सिंघल से जेएसएसपीएस के संबंध में बात की। इसके बाद उन्होंने यह आदेश दिया। हालांकि अकादमी को संचालित करने वाली झारखंड स्टेट स्पोर्टस प्रमोशन सोसाइटी (जेएएसपीएस) प्रबंधन ने इस संबंध में किसी तरह की जानकारी से इन्कार किया है। होटवार में नौ खेलों की अकादमी अभी चल रही है। कोरोना के कारण सभी अकादमी पिछले आठ महीने से बंद है।

एमओयू के अनुसार नहीं हुआ काम

जानकारी के अनुसार सीएम इस बात से नाराज हैं कि एमओयू के अनुसार सीसीएल ने काम नहीं किया। उन्होंने विभाग से पूरा ब्योरा तलब किया है कि क्या-क्या होना था और क्या-क्या हुआ है। विभाग ने इस कार्य के लिए दो अधिकारियों को जिम्मेवारी सौंपी है। एमओयू के अनुसार एक साल के अंदर 12 खेल अकादमी शुरू होनी थी, लेकिन पांच साल के बाद भी नौ अकादमी ही खुल पाई। वहीं तीन साल के अंदर खेल विवि खोलना था, लेकिन इस पर अभी तक कोई कार्य नहीं हुआ है।

राज्य सरकार व सीसीएल बराबर खर्च करती है

एमओयू के अनुसार अकादमी पर होने वाले खर्च का आधा हिस्सा राज्य सरकार व आधा सीसीएल वहन करती है। सूत्रों ने बताया कि खर्च में अनियमितता की भी शिकायत थी। इसके बाद सीएम ने सख्त कदम उठाया। स्टेडियम का मेंटेनेंस भी सीसीएल को कराना था। लेकिन सही रखरखाव के अभाव में अंतरराष्ट्रीय स्तर की आधारभूत संरचना खराब हो रही है।

खिलाड़‍ियों को अकादमी से नहीं निकाला जाएगा

जानकारी के अनुसार एमओयू रद होने के बावजूद अकादमी के बच्चों का प्रशिक्षण नहीं रुकेगा। मुख्यमंत्री ने अकादमी की जिम्मेवारी किसी अन्य कंपनी को देने का निर्णय लिया है। बताया जा रहा है कि टाटा ने जिस तरह सफलतापूर्वक फुटबाल व तीरंदाजी अकादमी का संचालन किया है, उसे देखते हुए यहां की भी जिम्मेदारी टाटा को सौंपी जा सकती है।

वहीं जेएसएसपीए के सीइओ (लोकल मैनेजमेंट कमेटी) बसाक चौधरी ने बताया कि इस संबंध में उन्हें कुछ जानकारी नहीं है। उन्होंने बताया कि हमें जो टारगेट दिया गया है, उस पर हमलोग काम कर रहे हैं। अगले वर्ष अप्रैल माह तक कुछ और अकादमी खोलने की बात पिछले सप्ताह खेल विभाग की बैठक में की गई थी। अगर सीएम ने कोई निर्णय लिया है तो उन्हें इसकी जानकारी नहीं है।