राष्ट्रीय

SCO सम्मेलन में शामिल होने के लिए बिश्केक रवाना हुए PM मोदी, शी जिनपिंग और पुतिन से होगी मुलाकात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) सम्मेलन में भाग लेने के लिए किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक रवाना होंगे. जहां वे चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से भी मुलाकात करेंगे.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक के लिए रवाना हुए. वे आज से शुरु हो रहे दो दिवसीय शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के वार्षिक शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे. खास बात है कि पीएम मोदी का विमान पाकिस्तान के वायु क्षेत्र से नहीं गुजरेगा. पीएम मोदी ओमान, ईरान और मध्य एशिया के देशों के रास्ते भारतीय समय के मुताबिक दोपहर करीब 1.30 बजे बिश्केक पहुंचेंगे. उनकी कुछ द्विपक्षीय मुलाकातें आज शाम होनी हैं. वहीं देर शाम वो किर्गिस्तान राष्ट्रपति द्वारा दिए गए रात्रिभोज में शरीक होंगे.

मुख्य बैठक 14 जून को है. मोदी 14 जून को सम्मेलन को संबोधित करेंगे और फिर उसी शाम नई दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे. वापसी से पहले पीएम मोदी तीन नेताओं के साथ मिलेंगे. इसमें चीन और रूस के राष्ट्रपति के अलावा मेज़बान किर्गिस्तान के राष्ट्रपति भी शामिल हैं.

पीएम मोदी का आमना-सामना पाकिस्तान के पीएम इमरान खान से भी होगा. विदेश मंत्रालय के मुताबिक भारत और पाकिस्तान के नेताओं के बीच एससीओ शिखर सम्मेलन के हाशिए पर फिलहाल किसी द्विपक्षीय मुलाकात का कोई कार्यक्रम नहीं है. न ही किसी तरह की औपचारिक भेंट का कोई कार्यक्रम.

किर्गिस्तान के लिए रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि किर्गिज गणराज्य में हो रहे शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की शिखर बैठक में वैश्विक सुरक्षा स्थिति और आर्थिक सहयोग पर मुख्य जोर रहेगा.

उन्होंने कहा, ‘‘क्षेत्र में बहुपक्षीय, राजनीतिक, सुरक्षा, आर्थिक और लोगों से लोगों के बीच संपर्क को बढ़ावा देने में हम एससीओ को विशेष महत्व देते हैं. भारत ने दो साल पहले एससीओ का पूर्ण सदस्य बनने के बाद इसके विभिन्न वार्ता तंत्रों में सक्रियता से भाग लिया है.’’