AppleGoogle
गैजेट

कोरोना वायरस से लड़ाई के लिए साथ आए Apple और Google, कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग टेक्नोलॉजी करेंगे तैयार

रांची 11 अप्रैल 2020 City On Click:

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच एप्पल और गूगल की ओर से शुक्रवार को बड़ा ऐलान किया गया। दोनों कंपनियों ने सरकारों और स्वास्थ्य एजेंसियों को ब्लूटूथ तकनीक का उपयोग करके कोरोना वायरस के प्रसार को ट्रैक करने में मदद करेंगे। दोनों कंपनियां आईओएस और एंड्रॉइड के लिए एक ट्रेसिंग टूल लॉन्च कर रही हैं जिसके माध्यम से लोगों को स्मार्टफोन के माध्यम से सूचित करना आसान होगा यदि वे कोविड-19 से संक्रमित किसी भी मरीज के संपर्क में आते हैं।

दोनों ही कंपनियां मई में एख एपीआई (डेवलपर टूल) लॉन्च करेंगी जो कि एंड्रॉयड और आईओएस दोनों के लिए उपलब्ध होंगे। ऐप को आईट्यून्स ऐप स्टोर और गूगर प्ले स्टोर के माध्यम से उपलब्ध कराने की तैयारी है। दो टेक्नोलॉजी क्षेत्र की दो दिग्गज कंपनियां स्मार्ट फोन और ऑपरेटिंग सिस्टम चला रही है ऐसे में कोरोना वायरस मरीजों के पता लगाने के लिए दोनों का साथ आना काफी कारगर साबित हो सकता है।

दोनों कंपनियों का साथ आना सरकारों और स्वास्थ्य एजेंसियों को वायरस के प्रसार को कम करने में मदद करेंगी। इसके लिए कंपनियां ब्लूटूथ तकनीक का इस्तेमाल करेंगी। कंपनी एक संयुक्त बयान में कहा है कि उपयोगकर्ताओं की गोपनीयता का ध्यान रखते हुए टूल लॉन्च करेंगी। ये दोनों कंपनियां ब्लूटूथ के जरिए यूजर्स को संदेश देंगी की आप कोरोना वायरस संदिग्ध या फिर मरीज के संपर्क में हैं। कंपनी ने इतना जरूर साफ कर दिया है कि इसके लिए वो यूजर्स की जीपीएस लोकेशन व्यक्तिगत डाटा को रिकॉर्ड नहीं करेगी।